विचार और विचारधारा

विचार और विचारधारा दो अलग-अलग चीजें हैं। विचार निरंतर बदलता रहता है। यह परिवर्तनशील है।यह एक नदी की भाँति प्रवाहमान…

0Shares
Read More

अपनी क्षमता जानो

हम सबके भीतर क्षमताओं का असीम भंडार है।बस अपनी अज्ञानतावश हम उन्हें पहचान नहीं पाते और स्वयं को कमतर समझकर…

0Shares
Read More

वुभुक्षितः किं न  करोति पापं

त्यजेत् क्षुधार्ताः जननी स्वपुत्रं,खादेत् क्षुधार्ताः भुजगी स्वमण्डम्| वुभुक्षितः किं न  करोति पापं,क्षीणा जनाः निष्करुणा भवन्ति ।। भूख  से व्याकुल एक…

0Shares
Read More

तनाव

तनाव कोई रोग नही है यह व्यक्ति के स्वयं के द्वारा उत्पन्न एक स्थिति है हो मानसिक तथा शारीरिक व्याकुलता…

0Shares
Read More